May 302020
 

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना क्या है 2020 और इसके लिए आवेदन कैसे करें

हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बेरोजगार युवाओं के लिए “युवा स्वरोजगार योजना” का शुभारंभ किया है। योगी सरकार अपने इस महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से अपने प्रदेश के प्रत्येक शिक्षित युवा वर्ग के बेरोजगार व्यक्तियों को अपने खुद का व्यवसाय शुरू करने का अवसर प्रदान कर दी है। योजना से संबंधित रिपोर्ट से पता चला है, कि इस राज्य स्तरीय योजना के अंतर्गत हाई स्कूल पास आवेदक को ₹25,00,000 तक का ऋण प्रदान करने का प्रावधान है। हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी इस योजना के अंतर्गत उद्योग की स्थापना के लिए ₹25,00000 और और सेवा क्षेत्र के लिए ₹10,00000 ऋण प्रदान करने की सुविधा दे रहे हैं। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत दी जाने वाली ऋण राशि को बैंकों के माध्यम से केवल उत्तर प्रदेश राज्य के निवासियों को प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। आइए हम इस महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से और भी विस्तार से यह समझने का प्रयास करते हैं।

up-mukhyamantri-yuva-swarozgar-yojana

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना क्या है ?

इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार योजना की ऋण राशि को दो भागों में विभाजित करके वितरित करेगी। पहली ऋण राशि को उद्योग स्थापना के क्षेत्र में और दूसरी ऋण राशि को सेवा के क्षेत्र में वितरित करने का आदेश जारी किया गया है। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार द्वारा 25% मार्जिन राशि पर लाभ प्रदान करने का प्रावधान है, जो उद्योग क्षेत्र के लिए अधिकतम ₹6.25 लाख और सेवा क्षेत्र के लिए अधिकतम ₹2.50 लाख की राशि पर मार्जिन देने का प्रावधान है। योजना के अंतर्गत गठित जिला स्तरीय चयन समिति के माध्यम से चयनित उम्मीदवारों के आवेदन को बैंक में भेजा जाता है, और फिर इसकी स्वीकृति और ऋण की राशि को वितरित करने का कार्य पूरा किया जाता है।

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए विस्तृत पात्रता मापदंड क्या है ?

  • उत्तर प्रदेश सरकार की इस लाभकारी योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक व्यक्ति को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना आवश्यक है और उसकी निम्नतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन व्यक्ति को कम से कम हाई स्कूल में उत्तीर्ण होना अति आवश्यक है।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले आवेदक व्यक्ति को किसी भी क्षेत्र में डिफाल्टर होना नहीं चाहिए।
  • आवेदनकर्ता व्यक्ति किसी भी प्रकार की केंद्रीय या राज्य स्तरीय योजनाओं का लाभार्थी ना हो जैसे कि :- प्रधानमंत्री रोजगार योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री रोजगार योजना आदि. यदि इनमें से किसी भी योजना का लाभ आवेदनकर्ता प्राप्त कर रहा होगा, तो उसे इस योजना के अंतर्गत लाभान्वित नहीं किया जाएगा।
  • आवेदक व्यक्ति और उसके परिवार के सदस्यों को केवल इस योजना के अंतर्गत एक बार ही लाभ प्रदान किए जाने का प्रावधान है।
  • आवेदक व्यक्ति को योजना से संबंधित सभी शर्तों को पूरा करना है और उसके बाद उसे योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए एक शपथ पत्र भी प्रस्तुत करना अनिवार्य होता है।

युवा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है ?

  • इस योजना के अंतर्गत सबसे पहले आवेदनकर्ता को अपना आवेदन इसकी ऑफिशल वेबसाइट http://www.diupmsme.upsdc.gov.in/ पर जाकर पूरा करना होगा। उसके बाद उसे लॉगइन करना होगा, लॉगइन करने के बाद आपको “नवीन उपयोगकर्ता पंजीकरण” नामक विकल्प दिखाई देगा आपको उस पर एक करके अपना रजिस्ट्रेशन पूरा कर लेना है।
  • इतना करने के बाद आवेदक के सामने एक नया पेज खुलकर आ जायेगा, जिसमें आवेदक से उससे जुड़ी कुछ जानकारियां पूछे जाएंगे जैसे योजना का नाम, आवेदक का नाम, जन्मतिथि, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, इ-मेल, जिला का नाम और कैप्चा कोड शामिल है।
  • यदि कोई उपभोक्ता इस पोर्टल पर पहले से ही अपना पंजीकरण पूरा कर रखा है, तो उसे बस क्रम संख्या दो पर जाकर उपयोगकर्ता आईडी पासवर्ड और कैप्चा कोड की प्रविष्टि करने के बाद सीधे लॉगइन बटन पर क्लिक करके अपना लॉगइन कर लेना है।
  • इतना करने के बाद उपभोक्ता को नया पासवर्ड बनाना होगा और इस पोर्टल के लॉगइन पेज को खोलकर अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड को डालकर लॉगइन कर लेना होगा।
  • इस योजना के पोर्टल पर योजना से संबंधित लगने वाले सभी दस्तावेजों की सूची मौजूद होती है। इसके अतिरिक्त योजना से संबंधित सभी दिशा निर्देशों की जानकारी आवेदन कर्ता को प्राप्त हो जाती है।
  • इस पोर्टल पर आवेदन कर्ता जो भी अपने दस्तावेजों की प्रति को अपलोड करेगा वे सभी दस्तावेज स्पष्ट और साफ रूप से दिखाई देने चाहिए। यदि आवेदनकर्ता इन दस्तावेजों को स्पष्ट और साफ रूप से अपलोड नहीं करता तो , ऐसी स्थिति में आवेदनकर्ता के आवेदन को रद्द कर दिया जाएगा।
  • आवेदन कर्ता के वे सभी दस्तावेज जो योजना में लगेंगे उन सब की साइज अधिकतम 300 Kb और आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो की साइज अधिकतम 20 Kb हो आवेदन कर्ता के पास उपलब्ध होनी चाहिए।
  • आवेदन कर्ता द्वारा इतना करने के बाद वे आवेदन को निम्न चरणों द्वारा पूरा कर सकते हैं –
  1. आवेदक अपने द्वारा सभी जानकारियों की पुष्टि करेगा। इस योजना में मांगे गए सभी दस्तावेजों को आवेदक द्वारा अपलोड करना अनिवार्य होगा।
  2. जैसा कि हमने ऊपर जाना कि इस योजना में एक शपथ भी ली जाती है, इस शपथ पत्र के प्रतिरूप को निकाल कर नोटरी द्वारा सत्यापित प्रति को अपलोड करना होगा।
  3. आवेदन की संपूर्ण प्रक्रिया को पूरा करने के बाद अपने पंजीकरण के सभी जानकारियों को स्वयं से एक बार सत्यापित करले, अन्यथा पंजीकरण फॉर्म एक बार सबमिट हो जाता है तो उसमें किसी भी प्रकार त्रुटि होने पर उसे सुधारा नहीं जा सकता।
  • अंतिम चरण में आपको रति विकल्प के ऑप्शन में जाना है और अपने पंजीकरण फॉर्म को सबमिट कर देना है।
  • अपने पंजीकरण को सबमिट करने के बाद आपको इसकी प्रतिलिपि निकाल लेनी है।

युवा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत स्थिति की जाँच

यदि आवेदन कर्ता अपने आवेदन की स्थिति की जांच करना चाहते है तो उसे इस आधिकारिक पोर्टल पर जाना है और उसके बाद उसे अपने आवेदन संख्या को इस पोर्टल पर दर्ज करना है और इतनी प्रक्रिया करने के बाद योजना का लाभार्थी अपने आवेदन की स्थिति की जांच बड़ी ही आसानी से कर सकेगा।

उत्तर प्रदेश सरकार की इस लाभकारी योजना के माध्यम से आप सभी ग्रामीण क्षेत्र के प्रशिक्षक युवक इसका लाभ उठाकर अपने स्वरोजगार के सपने को पूरा कर सकेंगे। इस योजना के माध्यम से प्रदेश में बेरोजगारी का स्तर कुछ हद तक काम हो सकेगा।

 Posted by at 11:48 am

Sorry, the comment form is closed at this time.